• व्हाट्सप्प +91 9005086017
  • ईमेल iaseprayagraj@gmail.com
  • संपर्क +91 8787259179
Thumb

संदेश

ब्रिटिश साम्राज्य काल से उत्तर प्रदेश में शिक्षा संस्कृति को गौरवान्वित और प्रतिष्ठापित करने वाले गवर्नमेंट पेडगोजिकल इंस्टिट्यूट, इलाहाबाद को उसके गौरवशाली इतिहास और उपयोगिता के कारन राज्य की शिक्षा व्यवस्था को गति एवं दिशा निर्देश प्रदान करने के साथ साथ शिक्षक शिक्षा में गुणवत्ता संवर्धन की दृष्टि से मानव संसाधन विकास मंत्रालय (भारत सरकार) नई दिल्ली ने शिक्षक शिक्षा योजना के अंतर्गत उसे उच्चीकृत करके नए नाम इंस्टिट्यूट ऑफ़ एडवांस्ड स्टडीज इन एजुकेशन (आई० ए० एस० ई०)  इलाहाबाद के रूप में अपने आदेश एफ-४५-२०/९३-टी० ई०-११/३१ मार्च १९९५ के द्वारा स्थापित किय।  जो शिक्षा के क्षेत्र में समस्त उत्तरी भारत में स्थापित अपने ढंग का विशिष्ठ राजकीय संस्थान है।

पूर्व में भारत की यह एक मात्र संस्था थी, जो शिक्षक प्रशिक्षण के अतिरिक्त पाठ्यक्रम निर्माण, पाठ्य पुस्तक लेखन, मूल्याङ्कन, शैक्षिक शोध और शिक्षा के नवाचार आदि अभिनव कार्यक्रम के सञ्चालन में अग्रणी रही है। वर्तमान में देश में ३६ आई० ए० एस० ई० विभिन्न राज्यों में शिक्षा विभाग के अंतर्गत स्थापित व संचालित हैं, जिसमें उत्तर प्रदेश में राज्य शैक्षिक अनुसन्धान एवं प्रशिक्षण परिषद् (एस०सी०ई०आर०टी0) उत्तर प्रदेश लखनऊ के अधीन शिक्षक शिक्षा योजनान्तर्गत एक मात्र संस्था के रूप में यह संस्थान संचालित है। इस संस्थान को उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल महोदय द्वारा उत्तर प्रदेश के राजाज्ञा संख्या ४६८/१५-११-२०००-१४९९ (६)/९६ दिनांक ९ जून २००० के माध्यम से सहर्ष स्वीकृति प्रदान है। इस संस्थान के गौरवशाली अतीत एवं प्रगतिशील वर्तमान को देखकर उत्तर प्रदेश शासन ने अपने पत्रांक ४६८/१५-११-२०००-१४९९ (६)/९६ दिनांक ९ जून २००० द्वारा आई०ए०एस०ई० के अंतर्गत प्रशासनिक एवं अकादमिक २७ तथा शिक्षणेत्तर ४३ कुल ७० पदों का सृजन किया है।

ललिता प्रदीप